भारत का इतिहास

मैं मिथिलेश वामनकर, उम्र २७ साल, पेशे से शासकीय सेवक हूं । मेरा जन्म म.प्र. राज्य के बैतूल जिले के गोराखार नामक एक आदिवासी बहुल गाँव में जुलाई १९८१ में हुआ। बचपन गाँव की धूल मिट्टी खेलते और गाँव के एकमात्र प्रायमरी स्कूल में बेंत और तमाचों के बीच बीता। पापा जब बस्तर के स्कूल मास्टर से डिप्टी कलेक्टर बने तो शहर का मुंह देखना नसीब हुआ। इसके बाद पापा के ट्रांसफ़रों में ही मिडिल और हाईस्कूल बीत गये।

mithileshwamankar

 ये पूरा समय छत्ती्सगढ़ और बस्तर में बीता और मैं “छत्तीसगढ़ियां सबले बड़िया” बनता रहा। इधर कालेज आया तो बी.एससी. की पढ़ाई में मन नहीं लगा और तीन साल की स्नातक डिग्री पंचार्षीयकार्यक्रम के तहत पूरी हुई। मध्यप्रदेश-छत्तीसगढ़ विभाजन के बाद मुझें भारत-विभाजन का दर्द समझ आया। हम छत्तीसगढ़ छोड़ मध्य-प्रदेश आ गए। हां इस दर्मियान एक सॄजनात्मक कार्य अवश्य करता रहा कि एक उपन्यास, बीसियों कहानियां और सैकड़ों गज़ले कवितायें लिख गया और इंटरनॆट का चस्का लगा तो कुछ दिन वेब-डिजाइनिंग भी की। फ़िर दिमाग दूसरी तरफ़ लगा और पी.एस.सी. की तैयारी में लग गया। पी.एस.सी और ब्लॊगिंग साथ-साथ चलती रही। पता नहीं कैसे ? पर पी.एस.सी. मे सफ़ल हुआ और अधिकारी बन गया।

 

अब शासकीय सेवा के साथ ब्लॊगिंग, गीत, गज़ल, कविता, कहानियां आदि लिख मारता हूं या औपचारिक शब्दों में कहें तो साहित्य सेवा भी कर लेता हूँ। इधर ज़िन्दगी को समझने, उधेड़ने,, बुनने, कुछ पाऊं तो उसे गुनने, अतीत में झाकनें और कल्पनाओं की उड़ान भरने के अलावा कोई खास काम नहीं करता। अभी भोपाल मे रह रहा हूँ और यही सब करने या न करने का भ्रम पाले बैठा हूँ।

 

अतीत की स्मॄतियों के छालों और फ़ूलों में सिमटकर, भविष्य के चिंतन में किसी दरवेश सा वर्तमान को सहेज-संजोकर खुश रहने की कोशिश में लगा हूँ। कभी खुद के तो कभी सब के बारे में सोच लेता हूँ। मैं हूँ। मैं ज़िंदा हूँ।……..हम ज़िंदा है। सचमुच हम ज़िंदा है ये सिद्ध करने की एक और नाकाम कोशिश में लग जाता हूँ। बस इतनी सी बातें है मेरे बारे में। कम से कम अब तक तो खुद को इतना ही समझ पाया हूँ।

 

10 Responses to "मेरा परिचय"

Har kisi ko bheed mein GUM ho jaane ki aadat hai
Har koi jane kyo hai pareshan, GUM hui rahat hai
Har shoo thake aur bebas chehro ki bashahat hai
Shukra hai ki Aap logo mein baat rahe MUSKURAHAT hai.
(Salute for Your Dedication)

respected mithilesh jee,

the only comment i can say is that i salute you, i bow to you from botttom of my heart.

i am in delhi.

please reply me and give your email address so that i can be in your touch personally.

hari bol
ashok gupta
ashok.gupta4@gmail.com
9810890743

sir, i am private employee working an engineering college as a office assistant. Today i see your very important website for civil services candidate.
your work is better. for those candidates who prepare for exam. I am also designing website.
sir, I can link your website to another website. please permit me.
dilip

Dear Mr. Mithilesh,

I have gone through your madhya kalin bhart and unable to find a single word abt shivaji, can you tell me why it is not there.

माननीय महोदय जी से विन्रम निवेदन है कि जनसंसाधन विकास एवं जीव कल्याण समिति नरसिँहपुर म.प्र. शासन द्रारा संचालित स्वपोषित स्व-रोजगार राष्ट्रीय गरीबी उन्मूलन परियोजना मेँ सदस्यता लेने के लिए 251 की राशि जमा करने पर एक लाख का ओरिएटल कं.का दुर्घटना बीमा एवं अन्य उपहार,तथा पाँच सदस्य बनाने पर 200 नगद कमीशन प्राप्त करे तथा भविष्य मेँ 10,000 महीने पेँसन प्राप्त करे साथ मेँ 40,000 प्रति महीने कमाने का मौका यह संस्था गरीबी,बेरोजगारी, भुखमरी,अशिक्षा, नशामुक्ति,दहेज प्रथा,कन्या भ्रूण हत्या,जैसी सामाजिक बुराईयो को समाज के अंदर से खत्म करना इसका उद्देश्य है शासन इस संस्था की मदद करे जिससे कि गरीब,बेरोजगार व्यक्तियोँ को रोजगार मिल सके। सरकार इस योजना का अध्ययन करे और इसका संचालन शासन के हाथो मेँ रहे जिससे गरीबी को जड़ से खत्म किया जा सके। हमे सभी जनप्रतिनिधियोँ एवं सरकार से सहयोग की आवश्यकता है। मिथलेश वर्मा संभागीय सचिव रीवा म.प्र. 9893775163 http://www.jsvjks.com

it is very important!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!!

name arjun patel
ss/o kashiram patel
gram sakri
post deora kalan
th.vijayraghavgarh
dist katni

parondo ko talime nahi di jati udhano ki vo khud hi bulindiya chu late hai aasjmano ki
.

एक उत्तर दें

Fill in your details below or click an icon to log in:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out / बदले )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out / बदले )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out / बदले )

Google+ photo

You are commenting using your Google+ account. Log Out / बदले )

Connecting to %s

प्रत्याख्यान-

यह एक अव्यवसायिक वेबपत्र है जिसका उद्देश्य केवल सिविल सेवा तथा राज्य लोकसेवा की परीक्षाओं मे हिन्दी माध्यम के लोकप्रिय विषय इतिहास लेने वाले प्रतिभागियों का सहयोग करना है। यदि इस वेबपत्र में प्रकाशित किसी भी सामग्री से आपत्ति हो तो इस ई-मेल पते पर सम्पर्क करें-

mitwa1980@gmail.com

आपत्तिजनक सामग्री को वेबपत्र से हटा दिया जायेगा। इस वेबपत्र की किसी भी सामग्री का प्रयोग केवल अव्यवसायिक रूप से किया जा सकता है।

संपादक- मिथिलेश वामनकर

फ़रवरी 2009
सोम मंगल बुध गुरु शुक्र शनि रवि
« अगस्त    
 1
2345678
9101112131415
16171819202122
232425262728  

Blog Stats

  • 1,752,249 hits

सुरक्षित पॄष्ट

Page copy protected against web site content infringement by Copyscape
%d bloggers like this: